मंगलवार, 26 नवंबर 2019

Satire : भाजपा ने की कांग्रेस पर कब्जे की औपचारिक घोषणा, कांग्रेसियों ने भी किया स्वागत


headquarters of the Congress at 24 Akbar Road satire jokes on congress


नई दिल्ली। आज 26 नवंबर को संविधान दिवस के मौके पर भाजपा ने अंतत: कांग्रेस पर कब्जे का औपचारिक ऐलान कर दिया। इसके साथ ही 1975 के बाद वाली कांग्रेस की तमाम नीतियों, कार्यक्रमों, दांव-पेंचों और साम-दाम-दंड-भेद संहिता पर भाजपा का अधिकार हो गया।

भाजपा की ओर से इसकी औपचारिक घोषणा 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस के सुनसान पड़े मुख्यालय से की गई। वहां आयोजित कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष ने बेहद भावुक भाषण में कहा, ‘आज संविधान दिवस है। इस पवित्र मौके पर हमें यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि आज से कांग्रेस की तमाम नीतियों का हमने औपचारिक तौर पर अधिग्रहण कर लिया है। वैसे हम पिछले कई महीनों से कांग्रेस के कार्यक्रमों को अमल में लाने का अभ्यास कर रहे थे। कर्नाटक से लेकर गोवा तक में हमने सफल प्रयोग किए। और अब महाराष्ट्र में हमें उन प्रयोगों को दोहराने में सफलता मिली है।’

कांग्रेस ने भी किया स्वागत :

 भाजपा के इस फैसले का कांग्रेस ने स्वागत करते हुए कहा है कि अब कम से कम अब 24 अकबर रोड मुख्यालय की सही देखरेख हो सकेगी। हमारा काम तो 10 जनपथ से ही चल जाएगा। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने खुशी जताते हुए कहा, ‘आज साफ हो गया कि देश में सत्ता किसी भी पार्टी की हो, नीतियां कांग्रेस की ही चलेंगी।’

(और भी मजेदार खबरी व्यंग्य पढ़ने के लिए हिंदी खबरी व्यंग्यों पर भारत के पहले पोर्टल hindisatire.com पर क्लिक करें ...)

सोमवार, 18 नवंबर 2019

Humor : हाऊसफुल-4 ने छुआ 200 करोड़ का आंकड़ा, सरकार ने दिए भारतीयों के IQ लेवल में गिरावट की जांच के आदेश

housefull - 4 movie  हाउसफुल मूवी फनी फोटो


By Jayjeet

मुंबई/दिल्ली। हाऊसफुल-4 मूवी बुधवार को 200 करोड़ क्लब में शामिल हो गई। इस बीच, मूवी की भयंकर सफलता से चिंतित सरकार ने भारतीयों के IQ लेवल में गिरावट के मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं।

हाऊसफुल-4 जिस तरह से कमाई कर रही है, वह इस बात का संकेत है कि बीते कुछ दिनों में भारतीयों के IQ लेवल में रिकॉर्डतोड़ गिरावट आई है। इस बीच, रैंकिंग देने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था इंटरनेशनल आईक्यू मॉनिटरिंग ऑर्गनाइजेशन ने भी भारत की रैंकिंग घटाकर 152 कर दी है। हाऊसफुल-4 की रिलीज से पहले यह रैंकिंग 72 थी। सरकार ने इसे काफी गंभीरता से लिया है। माना जा रहा है कि स्वयं प्रधानमंत्री ने ब्रिक्स सम्मेलन से बाहर निकलकर PMO के अफसरों से इस मामले में बात की। प्रधानमंत्री के दखल के बाद हरकत में आई सरकार ने आनन-फानन में एक कमेटी बनाकर IQ लेवल में गिरावट के सभी पहलुओं की जांच कराने के आदेश जारी कर दिए हैं।


साजिद खान और कपिल शर्मा कठघरे में :
सरकार द्वारा गठित कमेटी इस पूरे मामले की जड़ में जाने का प्रयास करेगी। सरकार ने खासकर ‘हमशकल्स’ वाले साजिद खान और कपिल शर्मा के कॉमेडी शो को जांच के दायरे में रखा है। इस मामले में रितेश देशमुख और तूषार कपूर की भूमिकाओं का भी पता लगाया जाएगा। कमेटी को एक साल में रिपोर्ट देने को कहा गया है।

#housefull-4  #humor #satire

(और भी मजेदार खबरी व्यंग्य पढ़ने के लिए हिंदी खबरी व्यंग्यों पर भारत के पहले पोर्टल hindisatire.com पर क्लिक करें ...)

गुरुवार, 5 सितंबर 2019

Satire : अपने ‘राजनीतिक गुरु’ को सम्मानित करना चाहते हैं राहुल, गायब हुए सीनियर कांग्रेसी

jokes on rahul gandhi funny
हाव-भाव पर न जाइए... सच्ची में अपने गुरु को सम्मानित करना चाहते हैं बाबा...
By Jayjeet

हिंदी सटायर डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी की इस मंशा कि वे शिक्षक दिवस के मौके पर अपने राजनीतिक गुरु को सम्मानित करना चाहते हैं, को जानकर कांग्रेस के अधिकांश वरिष्ठ नेता भूमिगत बताए जा रहे हैं। जनार्दन द्विवेदी, जयराम रमेश से लेकर दिग्गी राजा तक ने अपने फोन नॉट रिचेबल कर लिए हैं।

हिंटी सटायर को प्राप्त जानकारी के अनुसार शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर राहुल ने अपने करीबियों से इच्छा जताई कि वे शिक्षक दिवस पर अपने राजनीतिक गुरु को सम्मानित करना चाहते हैं। जैसे ही यह खबर कांग्रेस के गलियारों में फैली, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में चिंता की लहर दौड़ गई। सीपी जोशी और अहमद पटेल अलग-अलग जगहों पर यह कहते सुने गए कि उन्हें तो राहुलजी से बहुत कुछ सीखने को मिला है, वे भला राहुलजी को क्या गुर दे सकते हैं? मोतीलाल वोरा ने अपने करीबियों से कहा (और यह भी कहा कि यह बात कुछ सूत्रों के जरिए राहुलजी तक पहुंच जाए) कि वे अब राजनीति में बहुत ज्यादा सक्रिय नहीं हैं, इसलिए उन्होंने राजनीतिक आधार पर सम्मानित होना छोड़ दिया है।

दिग्गी को पहले ही हो गया था भान! :
लगता है दिग्गी राजा को पहले से ही भान हो गया था कि शिक्षक दिवस पर राहुलजी कुछ गड़बड़-घोटाला कर सकते हैं। शायद इसीलिए उन्होंने कुछ दिन पहले से अपने गृह राज्य मप्र में कांग्रेस में कलह की स्थिति पैदा करवा दी ताकि राहुल उनके नाम पर अगर विचार कर रहे हों, तो वे छोड़ दें। हालांकि दिग्गी के घोर विरोधी उन्हें राहुल से सम्मानित करवाने के अभियान में जुट गए हैं।


(और भी मजेदार खबरी व्यंग्य पढ़ने के लिए हिंदी खबरी व्यंग्यों पर भारत के पहले पोर्टल hindisatire.com पर क्लिक करें ...)